-संतोष कुमार तिवारी
भारत की संस्कृति, सभ्यता और संस्कार की वजह से ही विश्व गुरू की पदवी को सुशोभित किया लेकिन धीरे धीरे पाश्चात्य संस्कृति का प्रभाव लोगों की मानसिकता पर पडते पडते नजरिया और वैचारिकता में काफी बदलाव हो गया है। जो कही न देश की आने वाली पीढियों के लिए दुखदायी ही होगा। इसलिए इस समय वर्तमान पीढी के लोगो को बडे ही सतर्कता और जिम्मेदारी से भारतीय संस्कृति और संस्कार को बढाने में सहायक होना चाहिए। लेकिन इस आधुनिकता के दौर में लोग ज्यादातर सोशल साइट्स पर सक्रिय दिखते है जबकि असली जिन्दगी में कम। लेकिन देश में जो लोग सोशल साइट का प्रयोग कर रहे उसमें अधिकतर ऐसे लोग है जिनको केवल अपना शौक पूरा करना है उनको इसका ध्यान नही है कि किस सोशल साइट का कनेक्शन किस देश से है। और वह देश भारत के लिए कैसा है? बस जब हम कोई एप्लिकेशन डाऊनलोड करते है तो सभी जगह एस और अलाऊ का बटन क्लिक करते हुए एप्लिकेशन खोलने के लिए लालायित रहते है। जबकि हमें यह ध्यान होना चाहिए कि कुछ ऐसे एप्लिकेशन है जो एक बार हमारा विवरण ले लेते है तो वे उसका प्रयोग हमेशा करते है। जिसकी वजह से हमारी कुछ जानकारियां सम्बन्धित एप्लिकेशन के पास पहुच जाती है और भविष्य में उनका दुरूपयोग भी संभावित रहता है। यह तो बात हुई साइबर सेक्योरिटी की लेकिन एक और बडा नुकसान देश के लिए लोग करते है वह है आर्थिक नुकसान क्योकि जब हम किसी एप्लिकेशन को लोड करते है तब उसे चलाने के लिए इंटरनेट डाटा की जरूडा पडती है। और डाटा पैक कराने के लिए हमें रिचार्ज कराना पडता है लेकिन लोग इन सबकी परवाह किये बिधा कई फालतू एप्लिकेशन लोड करके मौज मस्ती करते है। जो कही न कही परोक्ष रूप से भारत के लिए खतरा है। 
 इस समय पुरे देश में एक एप्लिकेशन टीक टाक की काफी चर्चा है। और यह एप्लिकेशन भारतीय संस्कृति, संस्कार और सभ्यता को नष्ट करने में काफी भूमिका निभा रहा है। करीब साढे तीन वर्ष के दौरान भारत में काफी संख्या में टीक टाॅक चलाने वाले है। आपने देखा होगा कि टिक टाॅक में किस तरह की अश्लील सामग्री लोड की जाती है। लोड करने वाला तो अपने व्युअर के बढाने के चक्कर में घटिया से घटिया वीडियो बनाकर लोड करके फेमस होना चाहता है। लेकिन जब कोई दूसरा उस अश्लील वीडियो को देखता है तो उसका भी मन उसी तरह की अश्लीलता भरा वीडियो बनाने या देखने का मन करता है। यदि वह खुद इस तरह का अश्लील वीडियो बनाता है तो भी भारतीय संस्कृति में गंदगी बढ रही है और यदि वह केवल देखकर छोड देता है तो भी दिमाग में गंदगी फैली और वीडियो बनाने वाले का व्युअर बढा। जब वीडियो बनाने वाले के व्युअर की संक्या बढती है तो वह सोचता है कि इससे भी अश्लील वीडियो बनाये जिससे व्युअर और बढे। यही हाल है भारत के टिक टाॅक युजर्स का। 
 मालूम हो कि टिक टाॅक की शुरूआत सितम्बर 2016 में बाइट डान्स नामक कम्पनी ने चीन में की थी। वैसे तो टिक टॉक का विरोध भारत में पहले से ही हो रहा है इसके कई कारण है। भारत और पूरी दुनिया इस कोरोना वायरस का दंश भुगतने को मजबूर है जिसे अब ‘चाइनीज़ वायरस’ कहा जा रहा है। भारत में चीन के खिलाफ भावनाएं उभर रही हैं और इसके साथ ही भारत सरकार से ‘टिक टॉक’ पर प्रतिबंध लगाने की मांग भी उठने लगी है। वैसे चीन पहले से हमारा शत्रु रहा है, हमारे देश से अरबों-खबरों रुपये का व्यापार करता है फिर भी हमारे देश की सीमाओं को हड़पने की कोशिश कर रहा है दूसरी बात की एप्लिकेशन द्वारा हमारी प्राइवेट बातें ले जाता है इसके कारण टिक टाॅक को प्रतिबन्धित करना बहुत जरूरी हैं। कुछ लोग टिकटॉक पर फेमस होने के लिए संस्कार हीन ओर अश्लीलता भरा वीडियो बनाकर भी अपलोड कर देते है। जो टिकटाॅक भारतीय संस्कृति के खिलाफ एक कार्य कर रहा है। इसलिए देश मे काफी लोग इस पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग उठा रहे है। भारत और चीन के सम्बन्धों में दरार को ध्यान में रखकर सभी भारतीयों को यह ध्यान होना चाहिए कि हम प्रयास करें कि किसी भी तरह की चीनी एप्लिकेशन के प्रयोग करने से बचें। यह केवल इसलिए जरूरी नही है कि चीन की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी बल्कि इसलिए कि चीन की चाल बाजियों से हम अपने को सुरक्षित रख सके क्योकि चीन की हरकत सभी भारतीयों को सावधान रहने की जरूरत है। इस मुद्दे को केवल सोशल साइट या भारतीय संस्कृति तक ही सीमित न रखे बल्कि इसे राष्ट्रवाद के नजरिये से देखे क्योकि चीन के सह पर ही भीखमंगा पाकिस्तान आज भारत को हिलाने की धमकी देता है। लेकिन सच्चाई यह है कि पाकिस्तान न कभी भारत के सामने टिक पाया है और न टिक पायेगा। इसीलिए केवल अपने मनोरंजन के चक्कर में यह न भूल जाये कि चीन और पाकिस्तान हमारी जानकारियां परोक्ष रूप से लेकर भारत को कमजोर करने के लिए कोई भी अनैतिक कदम उठा सकते है। आजकल देखा जा सकता है कि विश्व समुदाय के ज्यादातर देश चीन से कोरोना को लेकर नाराज है। और खुद अपना देश भी नाराज है। तो हम सबका कर्तव्य बनता है कि यथासंभव चीनी एप्लिकेशन, सामान इत्यादि का प्रयोग बंद करे जिससे कम से कम भारत से चीन को हो रहे फायदा पर कमी हो। तथा साथ में सोशल साइट और एप्लिकेशन से भारतीय संस्कृति में गंदगी न फैल सके। टिक टाॅक का प्रयोग राष्ट्रहित में पूर्ण प्रतिबन्धित करें। 
 युवाओं से विशेष आग्रह है कि देश की बागडोर अब आपके हाथ में है आप अपने थोडे से मनोरंजन या प्रसिद्धि के लिए भारत की अस्मिता को नुकसान नही होने देंगे। आज ही सभी युवाओं को राष्ट्रहित में संकल्प लेना होगा कि जो भी एप्लिकेशन, सामग्री, विचारधारा या अन्य चीजे  भारत विरोधी या भारत के लिए नुकसान दायक होगी उसका पूर्णतः बहिष्कार करेंगे। आपको जानकारी होगी कि भारत ने पाक अधिकृत कश्मीर का मौसम का हाल बताया जिससे पाकिस्तान बौखला गया लेकिन उसकी कोई चाल कामयाब न हो सकी और अब पाकिस्तान ने पीओके क्षेत्र को अपने नक्से से हटा दिया है। और इस घटना के बाद चीन तिलमिला कर रह गया। चीन के सीने पर सांप और लोट गया जब विश्व स्वास्थ्य संगठन में भारत की धमाकेदार इंट्री हुई। यह सभी चीजे तभी संभव हो पा रही है जहां देश के लोगों का जज्बा और देशभक्ति है जो चीन और पाकिस्तान को यूं ही मुंह की खाने पर विवश कर रहा है। वैसे कुछ भी हो यदि देश का युवा ऐसे ही अपने जागरूकता और देशभक्ति के जज्बे से आगे बढता रहेगा तो देश फिर एक बार विश्व का प्रतिनिधित्व करेगा। विदेशी एप्लिकेशन को बहिष्कार करके हम देश की संस्कृति, सभ्यता, संस्कार, धन, सुरक्षा और देशभक्ति को मजबूत बनाने में सहायक हो सकते है।
-भदोही, उत्तर प्रदेश

0 comments:

Post a comment

 
Top