MRI रूम में ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर गए शख्स की मशीन में फंसकर मौत, 3 अरेस्ट, national news in hindi, national newsमुंबई. यहां बीवाईएल नायर चैरिटेबल हॉस्पिटल में शनिवार को MRI मशीन में फंसकर एक 32 साल के युवक की मौत हो गई। हादसे के पीछे हॉस्पिटल स्टाफ की लापरवाही की बात सामने आई है। युवक का नाम राजेश मारू बताया गया है। वो हाॅस्पिटल अपने एक रिश्तेदार की MRI कराने आया था। रिश्तेदारों के मुताबिक, MRI से पहले वॉर्डबॉय ने उससे ऑक्सीजन सिलेंडर MRI रूम के अंदर पहुंचाने के लिए कहा था। जैसे ही युवक सिलेंडर लेकर रूम के अंदर घुसा मशीन की मैग्नेटिक फील्ड ने उसे खींच लिया। तेज दबाव के चलते सिलेंडर फटने से पूरी ऑक्सीजन शख्स के अंदर ही भर गई और कुछ ही मिनटों में उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को अरेस्ट कर लिया है। 

आॅन थी MRI मशीन - 
युवक के रिश्तेदारों ने बताया कि वॉर्डबॉय रवि से ऑक्सीजन सिलेंडर MRI रूम के अंदर ले जाने के लिए कहा। हालांकि, जब उन्होंने इसपर सवाल उठाए तो वॉर्डबॉय ने कहा कि मशीन बंद है और यहां ऐसे ही काम होता है। - जैसे ही शख्स सिलेंडर लेकर रूम के अंदर गया मशीन की तेज फील्ड ने उसे खींच लिया। सिलेंडर फटने की वजह से पूरी ऑक्सीजन युवक के शरीर में भर गई और वो फूल गया। डॉक्टरों ने उसे आनन-फानन में इमरजेंसी रूम पहुंचाया, जहां 10 मिनट के अंदर ही उसने दम तोड़ दिया।

MRI रूम में मेटल ले जाने पर है पाबंदी - 
बता दें कि MRI मशीन की हाई मैग्नेटिक फील्ड की वजह से रूम में किसी भी तरह की मैटेलिक चीज ले जाने पर पाबंदी होती है। यहां तक रूम में घुसने से पहले बेल्ट और अंगूठी भी उतरवा ली जाती है। 

पुलिस ने दर्ज की FIR - पुलिस ने इस मामले हॉस्पिटल के डॉक्टर सिद्धांत शाह, वॉर्डबॉय विठ्ठल चवान और लेडी वॉर्ड अटेंडेंट सुनीता सुर्वे के खिलाफ सेक्शन 304A (लापरवाही से मौत) के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

0 comments:

Post a comment

 
Top