बीजिंग: (एजेंसी फीड के साथ परिकल्पना डेस्क)  उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग एक बार फिर चर्चा में हैं। ब्लूमबर्ग मीडिया के अनुसार एक ट्रेन उत्तर कोरिया के वरिष्ठ अधिकारी को लेकर बीजिंग पहुंची, जिसमें किम जोंग और उनकी पत्नी री सोल जू मौजूद थे। ७ वर्ष पूर्व किम के  उत्तर कोरिया का शासन संभालने के बाद यह उनकी पहली विदेश यात्रा है। किम का यह दौरा रविवार को शुरू हुआ जो कि बुधवार तक चलेगा। बीजिंग में एक विशेष ट्रेन के आने और गेस्टहाउस में असामान्य रूप से भारी सुरक्षा बल के चलते माना जा रहा है कि दोनों देशों में कुछ गोपनीय मसलों पर चर्चा हुई है।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक ऐसी अटकलें लगाई गई हैं कि कथित तौर पर इस ट्रेन में बीजिंग पहुंचे किम यहां पर अमेरिका से होने वाली अहम वार्ता से पहले कुछ खास रणनीति बनाने पहुंचे हैं। बहरहाल, चीन, उत्तर और दक्षिण कोरिया समेत अमेरिका ने भी अभी तक इस बात की कोई पुष्टि नहीं की है कि इस खास ट्रेन से किम ही बीजिंग पहुंचे हैं। इसको लेकर चल रही अटकलों के पीछे सबसे बड़ी वजह यह बताई गई है कि इसी ट्रेन से उत्तर कोरिया के पूर्व प्रमुख और किम के पिता किम जोंग इल और उनके दादा भी बीजिंग गए थे।

चीन की शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग-उन अपनी पत्नी री सोल जू के साथ चार दिवसीय चीन की यात्रा पर है। किम के चीन दौरे पर राष्ट्रपति शी और उनकी पत्नी पेंग लियुआन ने अपने मेहमान का जोरदार स्वागत किया और किम के लिए बीजिंग के 'ग्रेट हॉल ऑफ पीपल' में 'शाही भोज' का आयोजन भी किया।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बीजिंग में उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन के साथ वार्ता की है। इस दौरान किम जोंग-उन ने कहा कि उत्तर कोरिया संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ बातचीत करने और दोनों देशों की एक शिखर बैठक के लिए तैयार है। मुलाकात के दौरान तानाशाह ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को उत्तर कोरिया आने का निमंत्रण भी दिया। जिसे शी जिनपिंग ने स्वीकर भी कर लिया है। हालांकि चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुंयिंग ने उसे इन खबरों के बारे में कोई जानकारी नहीं है। उत्तर कोरियाई दूतावासों के अधिकारी भी इस यात्रा को लेकर कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

इस बीच उत्तर कोरिया और बीजिंग के बीच यात्रा के दौरान कई प्रतिबंध भी लगाए गए। जापान की एनटीवी ने बताया कि हरी और पीले रंग रंग की ट्रेनें एक साथ देखी गईं जो किम के पिता की चीन यात्रा के समय चलाई जाती थीं।

0 comments:

Post a comment

 
Top