(सज्जाद हुसैन)
 इस्लामाबाद, 21 फरवरी (भाषा): पाकिस्तान के भ्रष्टाचार विरोधी निकाय ने सेना के चार पूर्व शीर्ष अधिकारियों के खिलाफ दो अरब रूपये के भ्रष्टाचार के एक मामले को फिर से खोलने का फैसला किया है। इन अधिकारियों में आईएसआई के एक पूर्व प्रमुख भी शामिल हैं। 

यह मामला 2001 में रेलवे का एक कीमती भूखंड एक मलेशियाई क
ंपनी को बेहद कम कीमत पर सौंप देने का है। डॉन समाचार पत्र की एक रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने कल मामले में आगे कार्रवाई का फैसला किया। 

यह मामला 17 साल से ठंडे बस्ते में पड़ा था। रिपोर्ट के अनुसार आरोप है कि 2001 में परवेज मुशर्रफ के शासन काल में सेना के अधिकारियों ने लाहौर में रेलवे की सैकड़ों एकड़ जमीन एक मलेशियाई कंपनी को बेहद कम कीमत पर सौंप दी थी। जमीन एक गोल्फ कोर्स विकसित करने के लिए दी गयी थी।

0 comments:

Post a comment

 
Top