ढाका, 21 फरवरी (भाषा):  बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है कि ढाका के चीन के साथ बढ़ते संबंधों को लेकर भारत को चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने जोर देकर कहा कि बीजिंग के साथ सहयोग देश के विकास की खातिर है। हसीना ने कहा कि उनकी सरकार के लिए केवल विकास महत्वपूर्ण है और वह बांग्लादेश के विकास में मदद देने वाले हर देश के साथ सहयोग करने को तैयार है। 

हसीना ने अपने आधिकारिक आवास पर भारतीय पत्रकारों के एक प्रतिनिधिमंडल से कहा, ‘‘हम निवेश और सहयोग चाहते हैं, चाहे जो भी इसकी पेशकश करे। हम देश का विकास चाहते हैं....हमें अपने लोगों के बारे में सोचना होगा क्योंकि वे ही विकास के लाभार्थी हैं।’’ उन्होंने कहा कि भारत, चीन, जापान यहां तक कि पश्चिम एशियाई देश भी सहयोग के लिए बांग्लादेश आ रहे हैं। 

हसीना ने केहा, ‘‘भारत को चिंता करने की जरूरत नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरा सुझाव तो यह है कि भारत को बांग्लादेश समेत अपने पड़ोसियों से अच्छे संबंध रखने चाहिए ताकि क्षेत्र का आगे भी विकास हो सके और हम दुनिया को दिखा सकें कि हम सब मिलकर काम करते हैं।’’ 

हसीना ने म्यांमा से जान बचा कर भागे लाखों रोहिंग्या मुसलमानों को वापस उनके देश भेजने में भारत से मदद करने का अनुरोध किया। उन्होंने आशंका जताई कि बांग्लादेश में लंबे समय तक रहने से सुरक्षा को खतरा हो सकिता है। तीन दिवसीय बांग्लादेश-भारत मीडिया संवाद में शामिल होने के लिए कोलकाता और नयी दिल्ली के पत्रकार बांग्लादेश आए हुए हैं।

0 comments:

Post a comment

 
Top